ईस्टर हमलों के बाद श्रीलंका बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा सकता है : रिपोर्ट

By PTI | New Delhi | Updated: Apr 23 2019 10:17PM

ईस्टर हमलों के बाद श्रीलंका बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा सकता है : रिपोर्ट

कोलंबो, 23 अप्रैल (भाषा) ईस्टर हमलों के बाद श्रीलंका ने बुर्के पर प्रतिबंध की योजना पर अमल की तैयारी शुरू कर दी है। जांच के संदिग्धों और अन्य सबूतों से हमले में बड़ी संख्या में महिलाओं के शामिल होने के संकेत मिले हैं। रविवार को हुए इन हमलों में 321 लोगों की मौत हो गई और करीब 500 लोग घायल हो गए। मीडिया में आई खबरों में मंगलवार को यह जानकारी दी गयी।

डेली मिरर ने सूत्रों के हवाले से कहा कि सरकार मस्जिद अधिकारियों से विचार विमर्श करके इस कदम को लागू करने की योजना बना रही है।

अखबार ने सूत्र के हवाले से कहा, ‘‘उन्होंने (सूत्र) कहा कि सरकार मस्जिद अधिकारियों के साथ विचार विमर्श कर इस कदम को लागू करने की योजना बना रही है और सोमवार को कई मंत्रियों ने इस मामले पर राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना से बात की।’’

ऐसा पाया गया कि 1990 की शुरुआत में खाड़ी युद्ध तक श्रीलंका में मुस्लिम महिलाओं की पारंपरिक वेशभूषा में बुर्का और नकाब कभी शामिल नहीं रहे। खाड़ी युद्ध के समय चरमपंथी तत्वों ने मुस्लिम महिलाओं के लिए पर्दा शुरू किया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि रक्षा सूत्रों ने बताया कि डेमाटागोडा में घटनाओं में शामिल रही कई महिलाएं भी बुर्का पहनकर भाग गई।

अगर श्रीलंका ने बुर्का पर प्रतिबंध लगा दिया तो वह एशिया, अफ्रीका और यूरोप में उन देशों के समूह में शामिल हो जाएगा जिन्होंने आतंकवादियों को पुलिस से बचने या विस्फोटकों को छिपाने के लिए बुर्का का इस्तेमाल करने से रोकने के लिए ऐसा किया।

अखबार ने बताया कि चाड, कैमरून, गाबोन, मोरक्को, ऑस्ट्रिया, बुल्गारिया, डेनमार्क, फ्रांस, बेल्जियम और उत्तर पश्चिम चीन के मुस्लिम बहुल प्रांत शिनजियांग में बुर्का पहनने पर प्रतिबंध है।

भाषा

Most Read from the times of india

चेन्नई पेट्रोलियम में ईरानी निवेश संभावनाओं पर अमेरिकी प्रतिबंधों की दृष्टि से विचार

बिहार की रैली ने बदलाव की आवाज और बुलंद की : राहुल

ईस्टर हमलों के बाद श्रीलंका बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा सकता है : रिपोर्ट

कैबिनेट ने केंद्रीय शैक्षिक संस्‍थान (शिक्षक संवर्ग में आरक्षण) विधेयक को मंजूरी दी

स्वीडन पर जीत से अमेरिका आगे बढ़ा, कैमरून भी अंतिम 16 में

नोटऑनमैप को बुकिंग डॉट कॉम से 2,50,000 यूरो का अनुदान मिला

अरुण जेटली अमेरिका से स्वदेश लौटे

ऑटो एलपीजी उपयोग के मामले में भारत अब भी काफी पीछे : आईएसी

tester for bhasha

शोपियां में महिला के साथ पुलिसकर्मी द्वारा ‘हाथापाई’ मामले में जांच का आदेश

गुजरात फार्चून जाइंट्स ने यूपी योद्धा को 44-19 से हराया

अनुच्छेद 370 : जम्मू कश्मीर कैडर के आईएएस, आईपीसी अधिकारियों की पुरानी भूमिका जारी रहेगी

हवाईअड्डे से धौला कुआं तक यातायात ‘सिग्नल मुक्त’, गडकरी ने किया तीन लेन के अंडरपास का उद्घाटन

जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर ‘जिंदा’ है : पाकिस्तानी मीडिया

आईसीएआर की समिति ने खेती में कीट-पतंगों, रोबोट एवं ड्रोन तकनीक पर अनुसंधान की दी सलाह

ADS