ऑटिज्म के शिकार लोगों के लिए सामुदायिक परियोजना

By PTI | New Delhi | Updated: Jul 21 2019 10:01AM

कोलकाता, 21 जुलाई (भाषा) देश में अपने तरह की पहली पहल के तहत कोलकाता के बाहरी इलाके में ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसआर्डर (एएसडी) से ग्रस्त बच्चों के लिए एक टाऊनशिप बन रहा है और 2023 से यह चालू हो जाएगा।

सामुदायिक पहल पर आधारित इंडिया ऑटिज्म सेंटर (आईएसी) के प्रबंध न्यासी और अध्यक्ष सुरेश सोमानी ने शनिवार को बताया कि इस केंद्र में 4000 लोगों के रहने की व्यवस्था है। उसमें ऑटिज्म के शिकार बच्चों के परिवार भी ठहर सकते हैं।

सोमानी ने पीटीआई भाषा को बातया कि दक्षिण 24 परगना जिले के सिराकोल में यह केंद्र 53 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा और उसके निर्माण पर 350 करोड़ रूपये की लागत आएगी।

ऑटिज्म स्पेक्ट्रम डिसआर्डर एक ऐसा स्नायु रोग होता है जो व्यक्ति के आचरण एवं सूचना के विश्लेषण की क्षमता को प्रभावित करता है। इससे सामाजिक अंतर्संबंध, सामाजिक संवाद जैसे क्षेत्रों पर असर पड़ता है।

सोमानी ने कहा, ‘‘ यह आनुवांशिक विकार है और देश में उसके बारे में जागरूकता एवं जानकारी अब भी बहुत निचले स्तर पर है।’’

भाषा

Most Read from the times of india

चेन्नई पेट्रोलियम में ईरानी निवेश संभावनाओं पर अमेरिकी प्रतिबंधों की दृष्टि से विचार

बिहार की रैली ने बदलाव की आवाज और बुलंद की : राहुल

ईस्टर हमलों के बाद श्रीलंका बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा सकता है : रिपोर्ट

कैबिनेट ने केंद्रीय शैक्षिक संस्‍थान (शिक्षक संवर्ग में आरक्षण) विधेयक को मंजूरी दी

स्वीडन पर जीत से अमेरिका आगे बढ़ा, कैमरून भी अंतिम 16 में

नोटऑनमैप को बुकिंग डॉट कॉम से 2,50,000 यूरो का अनुदान मिला

अरुण जेटली अमेरिका से स्वदेश लौटे

ऑटो एलपीजी उपयोग के मामले में भारत अब भी काफी पीछे : आईएसी

tester for bhasha

शोपियां में महिला के साथ पुलिसकर्मी द्वारा ‘हाथापाई’ मामले में जांच का आदेश

गुजरात फार्चून जाइंट्स ने यूपी योद्धा को 44-19 से हराया

अनुच्छेद 370 : जम्मू कश्मीर कैडर के आईएएस, आईपीसी अधिकारियों की पुरानी भूमिका जारी रहेगी

हवाईअड्डे से धौला कुआं तक यातायात ‘सिग्नल मुक्त’, गडकरी ने किया तीन लेन के अंडरपास का उद्घाटन

जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर ‘जिंदा’ है : पाकिस्तानी मीडिया

आईसीएआर की समिति ने खेती में कीट-पतंगों, रोबोट एवं ड्रोन तकनीक पर अनुसंधान की दी सलाह

ADS